Monday, July 15, 2024
HomeLyricsNagri Ho Ayodhya Si Lyrics - नगरी हो अयोध्या सी भजन

Nagri Ho Ayodhya Si Lyrics – नगरी हो अयोध्या सी भजन

Nagri Ho Ayodhya Si Lyrics

प्रिय धर्मभक्तों, आज हम Nagri Ho Ayodhya Si Lyrics के गीत के रहस्यमयी शब्दों का विश्लेषण करेंगे। यह गीत भगवान श्रीराम के अद्वितीय अयोध्या नगरी की प्रशंसा करता है और हमारे जीवन में उनकी धरोहर को महसूस कराता है। Nagri Ho Ayodhya Si Lyrics हमें यह सिखाता है कि अयोध्या नगरी भगवान श्रीराम के अद्वितीयता और धार्मिकता का प्रतीक है। आइए, हम इस गीत के शब्दों के गहरे अर्थ को समझें और उनके माध्यम से भगवान के प्रति अपनी श्रद्धा को मजबूत करें।

Nagri Ho Ayodhya Si Lyrics – नगरी हो अयोध्या सी भजन

लक्ष्मण सा भाई हो, कौशल्या माई हो स्वामी तुम जैसा मेरा रघुराई हो स्वामी तुम जैसा मेरा रघुराई हो नगरी हो अयोध्या सी, रघुकुल सा घराना हो चरन हो राघव के, जहा मेरा ठिकाना हो चरन हो राघव के, जहा मेरा ठिकाना हो
हो त्याग भरत जैसा, सीता सी नारी हो लव कुश के जैसी सन्तान हमारी हो लव कुश के जैसी सन्तान हमारी हो श्रद्धा हो श्रवण जैसी, शबरी सी भक्ति हो हनुमात के जैसी निष्ठा और शक्ती हो हनुमात के जैसी निष्ठा और शक्ती हो
मेरी जीवन नइया हो प्रभु राम खवैया हो राम कृपा की सदा मेरे सिर पर छैया हो राम कृपा की सदा मेरे सिर पर छैया हो सर्यो का किनारा हो निर्मल जल धारा हो दर्श मुझे भगवन जिस घडी तुम्हारा हो दर्श मुझे भगवन जिस घडी तुम्हारा हो नगरी हो अयोध्या सी, रघुकुल सा घराना हो चरन हो राघव के, जहा मेरा ठिकाना हो चरन हो राघव के, जहा मेरा ठिकाना हो

Nagri Ho Ayodhya Si Video

Nagri Ho Ayodhya Si Video

आशा है कि आपने Nagri Ho Ayodhya Si Lyrics के इस गीत के माध्यम से भगवान श्रीराम की महिमा का आनंद लिया होगा। इस गीत में भगवान श्रीराम के पवित्र अवतार की धरती अयोध्या की अनूठीता और उसकी धार्मिकता को अनुभव किया जाता है। यह गीत हमें उनके प्रति हमारी श्रद्धा को बढ़ाने का संदेश देता है और हमें उनकी कृपा में रहने के लिए प्रेरित करता है।

Also read: Ya Devi Sarva Bhuteshu Lyrics in Hindi | या देवी सर्वभूतेषु Mantra

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments